Sat. Mar 6th, 2021

*B B C टाइम्स इन* रतलाम 23 फरवरी । हर एक व्यक्ति एक सेहतमंद जिंदगी की तलाश करता है। कोरोना काल में इसकी समझ और बेहतर तरीके से हो गई है। एक स्वस्थ और तंदुरुस्त जिंदगी सबसे ज्यादा जरूरी है। वैसे भी हम में से कोई भी बीमार नहीं पडना चाहता है। कहते हैं कि इलाज करवाने से बेहतर है कि हम सही एहतियात बरतें ताकि बीमारी हमें छू भी न पाए। इसके लिए हमें समझदारी के साथ स्वच्छता की और कदम बढ़ाने की जरूरत है।

उक्त विचार नगर निगम के सहायक आयुक्त श्री विकास सोंलकी ने सोमवार को हाकिमवाड़ा स्थित एम पब्लिक स्कूल में स्वच्छता जागरुकता सह स्वास्थ्य परीक्षण शिविर के अवसर पर व्यक्त किए।

नगर निगम आयुक्त श्री सोमनाथ झारिया के निर्देश पर स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 के तहत स्वच्छता जागरुकता कार्यक्रम के अवसर पर वरिष्ठ पूर्व पार्षद श्री मुन्नालाल शर्मा, स्वास्थ्य अधिकारी एपीसिंह, महिला एवं बाल विकास विभाग शहर परियोजना क्रमांक-1 की पर्यवेक्षक सुश्री उषा लिम्बोदिया उपस्थित रहे। अतिथियों का स्वागत स्कूल परिवार की नेहा चावरे,शायमा व अनिल पांचाल ने किया।कार्यक्रम का संचालन पर्यवेक्षक सुश्री उषा लिम्बोदिया ने किया और आभार नेहा चावरे ने माना।

इस अवसर पर स्वास्थ्य अधिकारी एपी सिंह ने कहां कि एक सेहतमंद जिंदगी और निरोगी काया के लिए स्वच्छता का ख्याल रखना बेहद जरूरी है। नगर निगम अपने स्तर से सफाई व्यवस्था में निरन्तर प्रयास किया है और इस प्रयास में सफलता भी निरन्तर मिल रही है। इन दिनों कोविड-19 के साथ ही अन्य बीमारियों का प्रकोप चल रहा है। मलेरिया, डेगू, टाईफाईड, बुखार सहित अन्य बीमारियों के रोगी बढने लगे है। इनमें से अनेक रोगों का सीधा संबध साफ सफाई से है। ऐसे में जरुरी है कि नागरिक अपने घर की सफाई के साथ ही आसपास की सफाई का भी ध्यान रखे और सर्तक रहे।

वरिष्ठ पूर्व पार्षद श्री मुन्नालाल शर्मा ने कहां कि स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 के तहत हमे रतलाम शहर को नम्बर-1 बनाने के प्रयास पुरजोर तरीके से करना चाहिए। अगर समय रहते हमने अपने इन प्रयासों को तेज कर दिया तो आने वाले समय में रतलाम का नाम देश में स्वच्छता की दौड़ में नम्बर-1 रहेगा।
उन्होने कहां कि नगर पालिक निगम का अमला सफाई व्यवस्था को लेकर सजग है विशेषकर नगर निगम आयुक्त श्री सोमनाथ झारिया खुद स्वच्छता के मामले को गंभीरता से ले रहे है। उन्ही के प्रयासों से रतलाम के कई कोनो और हिस्सों में तीस-तीस साल से जमा अस्थायी कचरा स्थलों को साफ करवाया है जहां दोबारा कचरा न डाला जाए इसके लिए रांगोली का निर्माण और दीपदान कराया जा रहा है। रांगोली और दीपदान नागरिकों के साथ ही इधर-उधर कचरा फेकने वालों में भी सकारात्मक भाव भर रहे है।
श्री शर्मा ने कहां कि स्वच्छता अभियान महज नगर पालिक निगम का अभियान न बने बल्कि इसे स्वच्छता आंदोलन माना जाए जिसमें शहरवासियों के लाखों हाथ आहूति दे।

हीना ने बिखेरे स्वच्छता के रंग

स्वच्छता जागरुकता कार्यक्रम के तहत यहां विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। मेंहदी प्रतियोगिता के दौरान किशोरी बालिकाओं व महिलाओं ने अपने हाथों पर मेंहदी रचा कर स्वच्छता का संदेश दिया। मेंहदी प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन के लिए आलीना, रेहनुमा,साराखानरांगोली प्रतियोगिता के लिए चांदनी बी, रेशमा बी, शगुफ्ता हुसैन, निबंध प्रतियोगिता में राहेमीन, अलफेज और सुमाईला को बालपेन और प्रमाणपत्र देकर अतिथियों ने सम्मानित किया। इसी तरह भाषण और अन्य स्पर्धाओं के लिए अनिता शर्मा, स्वालेहा खान, कामना व्यास, नसीम बानो, सविता जोशी,ब्रजबाला, प्रेमलता सेनी, सुनिता सोंलकी, सविता राठोर, नसीम बानो, शीला परमार, कायनात, ताहिरा बी, जितेन्द्र कुंवर, संतोष डोई, विमला राय, कोकिला सिसोदिया और नीता परमार को भी अतिथियों ने सम्मानित किया।

You missed