Sat. Mar 6th, 2021

*B B C टाइम्स इन* 22 जनवरी नई दिल्ली सालों से भक्ति-भजन गाकर ईश्वर की उपासना करने वाले भजन सम्राट नरेंद्र चंचल का आज निधन हो गया। वो 80 साल के थे। वो काफी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। पिछले कई दिनों से उनका इलाज दिल्ली के अपोलो में चल रहा था।

उन्होंने आज यानी शुक्रवार दोपहर करीब 12.15 बजे अंतिम सांस ली। उन्हें कई बड़े मशहूर भजनों के साथ हिंदी फिल्मों में काफी हिट गाने देने के लिए जाना जाता है। माता रानी के भजनों को खासकर उनके ही नाम से जाना जाता रहा है।

दिए कई बड़े हिट
बॉलीवुड के कई बड़े हिट सांग और भजन देने वाले नरेंद्र चंचल के अचानक इस तरह से जाने से बॉलीवुड और उनके फैंस सकते में हैं। नरेंद्र चंचल ने भजनों को खास कर माता के भजनों को नया आयाम और ऊंचाई दी थी। उनके गाये भजन जागरणों और माता के भक्तों को एक अलग ही दिशा में ले जाते थे। उनके द्वारा गाए गए भजनों ने जागरणों को जैसे एक अलग दिशा दे दी थी। चचंल ने शास्त्रीय संगीत में और लोक संगीत में लोगों का खूब दिल जीता।

बॉलीवुड में ऐसे शुरू हुआ था सफर
राज कपूर के साथ चचंल ने अपना बॉलीवुड में उनका सफर शुरू किया था। उन्होंने फिल्म ‘बॉबी’ में ‘बेशक मंदिर मस्जिद तोड़ो’ गाया था। जिसके बाद उन्होंने कई फिल्मों में गाने गाए लेकिन उन्हें पहचान और देश के हर व्यक्ति ने तब जाना जब उनका गया फिल्म ‘आशा’, में भजन ‘चलो बुलावा आया है’ गाया। इस भजन ने उन्हें रातों-रात वो शौहरत दी जिसे शायद किसी दूसरे भजन गायक को आज तक नहीं मिली।

चंचल काफी समय से बीमार थे लेकिन उन्होंने कोरोना काल में भी एक गाना गाया था जो काफी वायरल हुआ था। बताया जाता है कि चंचल खुद माता वैष्णो देवी के बड़े भक्त थे। साल 1944 से लगातार उन्होंने माता वैष्णो देवी के दरबार में होने वाले हर वार्षिक जागरण में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई थी। हालांकि कोरोना के कारण इस बार यह संभव न हो सका

You missed